Skip to main content

Posts

Showing posts from July, 2021

यह डाइवर्सिटी क्या बला है ? बहरूपिया

यह डाइवर्सिटी क्या बला है ?  याद कीजिये आपने यह जुमला पहली बार कब सुना था! मैंने पहली बार इसे सुना था जब एक इन्वेस्टमेंट कंसलटेंट इन्वेस्ट करने में कुछ गुर बता रहा था ; पोर्टफोलियो क्या है, कैसे फण्ड डाइवर्सिफाई करें, इत्यादि। . यहां डाइवर्सिटी का अर्थ है रिस्क कम करना. यह इन्वेस्टमेंट की दुनिया है. दूसरी बार डाइवर्सिटी सुना एथनिक डाइवर्सिटी के अर्थ में; जातीय समीकरण, मुस्लिम-यादव बिहार में, तुत्सी-हुतु रवांडा में, आइसिस -येज़दी सीरिया में , मीम-भीम उत्तर प्रदेश में, इत्यादि !  देश में २०२१ की जनगणना हो रही है! नितीश कुमार जो बिहार के मुख्यमंत्री हैं, ने इस बार जातीय आधार पर जनगणना की मांग की है. जायज़ है. किसी को नहीं पता पश्चिम बंगाल में कितने प्रतिशत मुस्लिम हैं, रोहिंग्या, बांग्लादेशी सभी जोड़कर देखे तो शायद ३५%... ऐसा कई अनाधिकारिक सूत्र बताते हैं.  मामला जब सत्ता का हो तब डाइवर्सिटी का अर्थ होता है, समीकरण, ध्रुवीकरण (Polarization ), वोट बैंक इत्यादि.  जब डाइवर्सिटी की बात कंपनी के अंदर हो तब बात होती है महिला संवर्धन -संरक्षण, ब्लैक लाइफ मैटर्स, लैंगिक और समलैंगिक राइट्